Best Afshaan Rizvi Shayari Lyrics & Biography | अफशान रिज़वी शायरी

Afshaan Rizvi Shayari

Afshaan Rizvi Shayari in Hindi / अफशान रिज़वी शायरी हिंदी मेंAfagan एक बेहतरीन शायर है | वो बहत सारे शो में सायरी बोलते है और उनका बहत सारे Follower Instagram में है। 

वो बहत सारे शायरी दिल टूटे आशिक के लिए लिखे है और उसने से कुछ शायरी instagtam में वायरल भी हुए है। इस पोस्ट में हम्म Afshan Rizvi Shayari हिंदी में लिखे है और ये आओको जरूर पसंद आएगा।

हम्म से जलने वाले यार जलते रहेंगे
हम्म तो मुसाफिर है चलते रहेंगे
सबके आराम का सामान लगाया है आस्तीन में अपनी
सारे सांप अपने है वो पलते रहेंगे

किसीकी फिक्र करना मतलब जज्बात नही होता
जिसे चाहते है अक्सर वही साथ नही होता
इश्क़ किया है सच्चा तो जिंदगी बिता कर दिखाओ
मेरे बच्चे महाबत्त का मतलब एक रात नही होता

मेरा बस छोटा सा काम करदे खुदा
सब छिन पर उशे मेरे नाम करदे खुदा

एहि हादसा मेरे साथ बार बार हुआ
खुदका बनाया हुआ तीर मेरे आर पार हुआ
में एक सदमे में हु एक सदी से यार
जबसे मेरी महाबत्त को और किसिशे प्यार हुआ

ये कैश नया शोक तूने पल रखा है
मुझसे हटा दिल तो कही और उछाल रखा है

ऐसे ही वो सबके साथ काटता है
मेरे साथ जो अपनी रात काटता है
वादों में पेहेले वादा था इसारे नही काटूंगा
आब क्या हुआ जो मेरी बात काटता है

Afshan Rizvi Shayari in Hindi

इश्क़ नकहबत्त किसी और से
और हिफाजत में करु
जाओ में तुम्हारा चौकी दार हु क्या

कीसी उम्मीद के सहारे तो दरिया पार होगा
उशे कभी ना कभी मुझसे प्यार होगा

आब नही खेलना दूर से ये नजरो का खेल
सीधा कहूंगा महाबत्त है जो हीग आर पार होगा

उसने कहाथा की सबके सो जाने के बाद कॉल करूँगी तुम्हे
लगता है मेरी महबूब की सहर में आज रात नही हुई

बेमतलब के थे वो रात के वादे
इन वादों में कटी आधी उमर हमने
तुमने केहेडिया वो थे बेबद कि वादे

उसका जादू ही तो है जो मुझपर चल जाताहै
केशा सनम है मेरा जो अकसर बदल जाता है

चेहरों पे हंशी ले कर चिठियो की गली जाता है
उसका निकाह दोस्तो ने सही बताया है

देख कर घरवालो को इनकार कर दिया महाबत्त से
इस हादसे के बाध हम्म उनसे बत्तमजी करनी पड़ी

खता क्या है मेरी मुझे बताओना यार
एक मुलाकात चाहिये तुम आओना यार
मुझे याद हो तुम मु जवानी पूरी तरह
तुम मुझे भूल जाओगे आबे जाओना यार

वो चूले तो हममेसा मेरा बदन गरम हो जाता है
दोस्त केहेते हो तुझे पहलेसे बुखार होगा

अफशान रिज़वी शायरी हिंदी में

झुटो के सेहर में अब अच्छे आने लगे है
महफिल में अब बच्चे उसने लगे है
इन लड़कियों को बेहेम हे कि इनकी खूबसूरती बढ़ गयी
मसला यही है कि ओहोने के केमरे अच्छे आने लगे है

उसकी उन सबसे बात होती है
जिनसे भी मेरी मुलाकात होती है
मेरे दिन रातो से जल्दी गुजरते है
जब कभी वो मेरे साथ होती है

कभी सोचा नही आज वो कर रहहु में
क्यों यशे दूर जाते हुए दर रहहु में
अगर गुनेगार हु में तो सजा उशे भी दो
जो गुना किया नही वी सजा भर रहहु में

सुना है अब हमारी यादो की तुम हिस्से कर रहेहो
वो महाबत्त वहाबत्त आज किसिशे कर रहेहो

जहा दिलसे दिल मलते है कारोबार नही होता
मिया बस नजरे मिलने से प्यार नही होता

दोस्तों कहरहे की कब मिला रहेहो भाबी से
यार कैशे बताऊ तेरो भाबी निकली गद्दार लड़की

जो गया है कसूर उसका है रातो का नही है
अबशोस सिर्फ मुलाकात का है बातो का नही है
जच रहीहै ये पायल, ये आगूठी, सब तुझपे मगर
ये तोफा दिया मेरे हाथों का नही है
लेकिन तेरे गर्दन पर निसान मेरा नही है

मेरी बात सिर्फ बात है या तू गोर भी करता है
दिल जब टूट कर बिखरता है शोर भी करता है
में मर जाऊंगा तेरे जाने के बाद ये बेहेम है तेरा
आके देख मुझे प्यार कोई और भी करताहै

अफशान रिज़वी शायरी

हमारी घर मे एक तस्बीर लटकटी रहती है
मानो सबकी जान उसमे आटकी रहती है
इतनी महाबत्त में उशे क्यों ना करू ये तुम बताओ
हम्म बाहर है तो माँ बस दरवाजा ताकती रहती है

ये दिल लगाने के चर्चे सेहर में अब हर दफा होंगे
राब्ता भी करेंगे आपसे आपिसे खपा होंगे
और बहत दिल टिड दिया हीरो ने गले से लगाकर
थोड़ा संभाल कर रहना यह के रांझे भी अब बेवफा होंगे

उसकी कमर को और किसीकी हाथ नाप रहीहै
हम्म आने वाले मेरे बुरे बक्त को पेहेले ही भाप रहेहै
जबसे हुआ मालूम उसका मेल रकीब से भी है
में छूना चहताहू लेकिन हाट थर रहे है

इरादा ही किस्मत का मारा हु में
आपनो से आपना बनकर हार हु में
में सारी बाते मु पर अक्सर बिल दिया करता हु
इसलिए ही सबकी नजरों में आवारा हु में

क्या फायदा रहा मेरा तेरी जिंदगी में होने का
आब रोने को तालबदार हु एक कोने का
में चलता भी हु तो लोगोको जोड़ कर चलता हूं
क्यों की मुझे मालूम है किसी आपने को खिने का

जो करे बास हकीकत बया बस ऐसे जिब चाहिए मुझे
तुझे भुलाबे की अच्छी तार्किफ चाहिए मुझे
में झेल लूंगा ये दर्द तेरे जानेके बाद मगर
जिंदगी में मगर तेरी जैशे रकीब चाहिए मुझे
दर्द मिले जहा सारे पर बद दुआ ना मिले
या खुदा सबको दुआ देने वाला नसीब चाहिए
जिसको ठुकराया इसके बजे से मैने
यार वही साक्ष मेरे करीब चाहिए मुझे

Leave a Reply