Latest 30+ DOCTOR SHAYARI in Hindi – डॉक्टर के सम्मान में शायरी in Hindi

Doctor Shayari in Hindi

Hindi Shayari Collection brought for you the Best 30+ Doctor Shayari in Hindi. They are standing with us all the time so we have to know the value of a Doctor. The doctor is like the second god in this world. In this critical section, all the employees are taking holiday but only the Doctor is not taking leave and They are doing their job in all the day and night.

For this reason, we have written Doctor Shayari in Hindi, डॉक्टर शायरी स्टेटस कोट्स,  Best Shayari for Doctor, Shayari for Doctors in Hindi read this and share with you all friend.

”Doctor Shayari in Hindi”

वो हर दर्द का इलाज रखता है
गोवा भगवान का भेजा हुआ दूध लगता है
सच में एक डॉक्टर ही जो है
जो मरते हुए इंसान को बचा सकता है
Vo har dard ka ilaaj rakhta hai
Goa bhagwan ka bheja hua dudh lagta hai
Sach mein ek doctor hi jo hai
Jo marte hue insaan ko bacha sakta hai
वो गली, डंडा, पत्थर सब खाएगा
फिर भी हमारी जान बचाने आएगा
व्हाट डॉक्टर ही जो है आपका धर्म, जाट
नहीं पूछेगा पहले आप की जान बचा लेगा
Vo gali, danda, pathar sab khaega
Fir bhi hamari Jaan bachane aayega
What doctor hi jo hai aapka dharm, Jat
Nahin puchega pahle aap ki jaan bacha lega
इश्क़ मोहब्बत प्यार से हट कर मेरी जिंदगी है
सबका तो सोना बाबू चाँद धोका देते हैं
पर मुझे तो न.इ.इ.टी ने लूटा है
Ishq mohabbat pyar se hat Kar meri jindagi hai
Sabka to Sona Babu Chand dhoka dete Hain
Per mujhe to N.E.E.T ne Luta hai
दरबार में कोई ख़ुशी नहीं
और ख़ुशी जैसी कोई दवा नहीं
Darbar mein koi Khushi Nahin
Aur Khushi jaisi koi dava Nahin
नर्सिंग खेल नहीं है बच्चों का
तेल निकल जाता है अच्छे अच्छे का
Nursing khel Nahin hai bacchon ka
Tel nikal jata hai acche acche ka
Doctor Shayari in Hindi

”Shayari on Doctor in Hindi”

ठहरना हे अब तुम्हारी दिल पे
थक चुके हे मब्ब्स करते हुए
Thaharna he ab tumhari Dil pe
Thak chuke he mbbs karte huye
डॉक्टर बना डाला अधूरी मोहब्बत ने हमको
अगर पूरी होती तो आज किसी के पापै हो गए होते
Doctor Bana dala adhuri mohabbat ne humko
Agar Puri hoti to aaj Kisi ke Papa ho Gaye hote
अब और क्या मांगू रब से
बस तुम मिल जाओ तो काफी है मेरे लिए
Ab aur kya mangu Rab se
Bus tum mil jao to kafi hai mere liye
मिलता नहीं बिना दर्द के कुछ भी
आंसुओं की कीमत झुकाने के लिए भी रोना पड़ता है
Milta Nahin Bina dard ke kuchh bhi
Aansuon ki kimat jhukane ke liye bhi Rona padta hai
अपनी किरदार भूल दिया
डॉक्टर का किरदार निभाने के लिए
Apni kirdar bhul Diya
Doctor ka kirdar nibhane ke liye
Doctor Shayari in Hindi

”Doctor Shayari in Hindi”

जान है तो जहान है
उनके लिए तो दिल में सम्मान है
और कोई उन्हें डॉक्टर बोलता है
पैर मेरे लिए तो वह भगवन है
Jaan hai to jahan hai
Unke liye to Dil mein samman hai
Aur koi unhen doctor bolata hai
Per mere liye to vah bhagwan hai
इन लोगों का यह कैसा है मिजाज
डॉक्टर को मारोगे तो कौन करेगा इलाज
एक बार कल्पना करके तो देखो बिना,
बिना डॉक्टर के कैसा है या समाज
Ine logon ka yah kaisa hai mijaj
Doctor ko maroge to kaun karega ilaaj
Ek bar Kalpana Karke to Dekho Bina,
Bina doctor ke kaisa hai ya samaj
सलाम उसमें उस माँ पर जिसने इन्हे पला है
सलूट उस बाप को जिसने इनका खर्च सभाला हे
नाच उष उस्तात पर जिसने इन्हे ें साची में ढला है 
फ़र्ज़ हम्म लिभाएँगे आपनी क़ौल को ये जुबा देदी फ़र्ज़ क लिए आज डॉक्टर ने अपनी जान देदी
Salam Usman uss maa par jisne einhe Pala hai
Salut ush baap ko jisne enka kharch sabhala he
Naach ush ustat par jisne enhe en saachi me dhala he
Farz humm libhayenge aapni koul ko ye juba dedi farz k liye aaj doctor ne aapni jaan dedi
हर इंसान उन्हें डॉक्टर के नाम पर पहचानता है
हर बीमारी का इलाज वही करेगा, यह हर कोई जानता है
समाज में डॉक्टर की क्या अहेमिऑट है
ऐसे ही नहीं हारकोइ उन्हें भगवन मानता है
Har insan unhen doctor ke naam per pehchanta hai
Har bimari ka ilaaj vahi karega, yah har koi jaanta hai
Samaj mein doctor ki kya ahemiaat hai
Aise hi nahin haarkoi unhen bhagwan manta hai
Doctor Shayari in Hindi

”डॉक्टर के सम्मान में शायरी in Hindi”

मौत का इनको खोप नहीं
जिंदगी इनको प्यारी है
और जो जिंदगी इनको प्यारी है 
वो जिंदगी तुम्हारी है
तुम्हारे बास्ते ही ये सार बखत लढ रहेहे
अपनी डीग्रीव से आज इन्साफ कर
Mout ka ekno khop nahi
Jindagi inko pyari hai
Aur jo jindagi inko pyari hai 
wo jindagi tumhari hai
Tumhare baste hi ye sar bakhat ladh rehehe
Aapni deegrio se aaj insaf kar 
मेरे मुल्क में 1 वबा सरे आम हे
मर्ज़ हरसू हे मोर बे लगाम हे
छूटीओ में हर सख्श हे खासो की आंधी
पर एक पैसा एसा हे डॉक्टर जिसका नाम है
Mere mulk me 1 waba sare aam he
Marz harsu he mour be lagam he
Chhutio me har saksh he khaso ki aandhi
Par ek pesa yesa he doctor jiska naam he
मन वहॉ एक डॉक्टर है
बसाक कोई भगवान नहीं
डॉक्टर का डॉक्टर होना
मगर इतना भी आसान नहीं
जाने कितने लोगों को गहरे नींद से जगा लिया
जाने कितने रोहो को वह दुनिया से भगा दिया
फिर भी जो तुम्हें हर रोज खुश दिखाया
डॉक्टर का डॉक्टर होने पर इतना भी आसान नहीं
Mana woho ek doctor hai
Basak koi bhagwan Nahin
Doctor ka doctor hona
Magar itna bhi aasan Nahi
Jane kitne logon ko gehre nind se Jaga liya
Jane kitne roho ko wah duniya se bhaga Diya
Fir bhi Jo tumhen har roj Khush dikhaya
Doctor ka doctor Hona per itna bhi aasan Nahin
मुझे भगवन न समझो 
शायद मैं हक़दार नहीं
मगर एक इंसान हूँ
इनसाइड तुम्हें भी इंकार नहीं
Mujhe bhagwan Na samjho 
shayad main hakdar Nahin
Magar ek insan hun
Inside tumhen bhi inkar Nahin
जब तुम जिंदगी में मस्त थे
में किताबों में व्यस्त था
तुम्हारे घर पेर जसनाथ था
मैं हॉस्पिटल पैर मगन था
Jab tum jindagi mein mast the
Mein kitabon mein vyast tha
Tumhare ghar per jasnaath tha
Main hospital per magan tha
Doctor Shayari in Hindi

”डॉक्टर भगवान का रूप शायरी”

तुम परिवार सहो ठेवारिन की 
खुशियां बना रहे थे
मेरी माँ और में दूर दूर 
दिया जला रहे थे
Tum parivar saho thevarin ki 
khushiyan banaa rahe the
Meri Man aur mein dur dur 
Diya Jala rahe the
बिना नाम जाट धर्म पूछे
यह हाथ मदद को बढ़े है
त्यौहार हो रविवार हो दिन या रात हो
फिर भी हम खड़े हैं
Bina naam jaat dharm puche
Yah hath madad ko badhe hai
Tyohaar ho ravivar ho din ya Raat ho
Fir bhi ham khade Hain
तुम्हे कोई हक़ नहीं बनता
डॉक्टरों पर झूठी अरब प्रत्यारोप लगाने का
अपनी दोहोरी मनसि कथा, कयरहता
डॉक्टरो पेर थॉट के जाने का
Tumhe koi haq nahi banta
Doctoron per jhuthi Arab pratyarop lagane ka
Apni dohori manasi Katha, kayarahata
Doctoro per thought ke jaane ka
तुम्हें दुनिया में लाने वाला माँ थी
सांग मैं भी खड़ा था
तुम्हारी जिंदगी और मौत में
बिच में जाने कितना बार ऐडा था
Tumhen duniya mein laane wala maa thi
Song main bhi khada tha
Tumhari jindagi aur maut mein
Bich mein jaane Kitna bar Ada tha
हक़ के लिए चिल्लाया तो अभद्र
थक गया तो गुनेहगार
फीस मांगी तो लालची
अस्पताल खोला तो व्यापर
Hak ke liye chillaya to abhadra
Thak Gaya to gunehgar
Fees mangai to lalchi
Aspataal khola to vyapar
Doctor Shayari in Hindi

”डॉक्टर एक समाजसेवक शायरी”

पत्थर पूछने वाले दोहरे समाज
मैं भी एक जान हूँ
हाँ मैं एक डॉक्टर हूँ
मगर पहले एक इंसान हूं
हाँ मैं एक डॉक्टर हूँ 
मगर पहले एक इंसान हो
Pathar poochhne wale dohare samaj
Main bhi ek Jaan hun
Han main ek doctor hun
Magar pahle ek insan hu
Han main ek doctor hun 
Magar pahle ek insan ho
घबराया तू यहाँ हर एक परिंदा है
लेकिन जो घर में रहे सका वही जिन्दा है
Ghabraya Tu yahan har ek parinda hai
Lekin jo ghar mein rahe saka vahi jinda hai
कुछ लम्हों के लापरवाही ने
जिंदगी भर का रोना हो गया
सोचते रहे वो इश्क का बुखार
पर गलती से कोरोना हो गया
Kuchh lamhon ke laparwahi ne
Jindegi bhar ka roona ho Gaya
Sochte rehe wo ishq ka bukhar
Par galti se corona ho gaya
कोरोना का खोप नही
मुझे आपनी आप पर यकीन है
मिझे रेहना हे सोशल डिस्टन्सिंग में यारो
जब तक आती नहीं कोई तगडी वैक्सीन है
Corona ka khop nehi
Mujhe aapni aap par yakin he
Myjhe rehena he social distancing me yaaro
Jab tak aati nehi koi tagdi vaccine hai
खली सड़के देख कर,
मान में उठा सवाल हे
जो सडको ही बसते थे
उन लोगोका क्या हाल हे
Khali sadke dekh kar,
maan me utha sawal he
Jo sadko hi baste the
Un logoka kya haal he
मेरा कत्ल करने की उनकी साजिश तो देखो
पास से गुजरता मास्क उठाकर छीक दिया
Mera katla karne ki unki sajis to dekho
Paas se gujreto mask uthakar chhik diya
Doctor Shayari in Hindi

”Doctor Shayari on Corona virus”

छोड़ दिया ने लिखना हममे
अपनी डायरी में
दिमाग लग गया हे अब तो
कोरोना विरसे की दर्द भरी शायरी में
Chood diaya ne likhna humme
Aapni dayari me
Dimag lag gaya he aab to
Corona viruse ki dard bhari shayari me
बिछ गयी हे जगहे जगहे लेस
आब नहि ीाहहए डिल में साबरा,
न जाने कब बिछेगी
इस कोरोना की कब्र
Bichh gayi he jagahe jagahe lase
Aab nehi eahahe dill me sabra,
Na jane kab bichhegi
Es Corona ki kabra
करोडो क भीड़ में कोरोना,
मुट्ठी भर लोग फ़ैलाते हे
वोही लोग बचते है इस महामारी से
जो भीड़ में नही जाते हे
Corodo k bhid me corona,
Mutthi bhar log failate he
Wohi loog bachte he es mahamari se
Jo bhid me nehi jate he
आखो में मंजिले थी
गिरे और सँभालते रहे
कोरोना में कहा दम था
डॉक्टर महामरीमे भी इलाज करते रहे
Aakho me manjile thi
Gire aaur sambhalte rahe
Corona me kaha dum tha
Doctor mahamarime bhi ellaj karte rahe
Doctor Shayari in Hindi

”डॉक्टर पर कविता इन हिंदी”

हवनी क दिन चमकीले हो गए
हुस्ना क तेबर आब नुकीले हो गए
हम्म क्वारंटाइन में रेहेगये कोरोना क छाकर में
और उधर उनके हात पिले हो गए
Hawani k din chamkile ho gaye
Husna k tebar aab nukile ho gaye
Humm quarantine me rehegaye Corona k chhakar me
Aaur udhar unke haat pile ho gaye
आर्ज़ कियाहै…
हर चमकती चीज हीरा नहीं होती
और हार छीक कोरोना नही होती
Aarj kiyahe…
Haar chamkati cheej heera nehi hoti
Aaur haar chhik corona nehi hhin’रे इश्क़ में कोरोना हो जाओ,
तू मुझे छू ले में कोरोना जो जाउ
Tere ishq me corona ho jaau,
Tu mujhe chhu le me corona jo jaau
कोविद तुम प्यारे थे
साडी बीमारी से न्यारे थे
बिल्कुम भी समझ नहीं आते थे
लोगो को खूब डरते थे
Coovid tum pyare the
Sari bimari se nyare the
Bilkum bhi samajh nehi aate the
Loogo ko khub darate the

Leave a Reply