Independence Day Shayari

Happy Independence Day Shayari on 15 August in Hindi 2020

Advertisement

Independence Day Shayari, 15 August Happy Independence Day Shayari, Messages, Wishes Poems on 15 August 2020, Indian Flag Tiranga Sms, Desh Premi Kavita shayari in hindi .15th August Independence Day 2020, Independence Shayari, Read this Shayari and wish your friend through Independence Shayari read also Hindi shayari, Good Morning Shayari, Love Shayari, Short Shayari, Maa Shayari, Friendship Shayari, Rakhi Shayari etc.


Independence Shayari


कहते हैं अलविदा हम अब इस जहान को, जा कर ख़ुदा के घर से अब आया न जाएगा, हमने लगाई आग हैं जो इंकलाब की, इस आग को किसी से बुझाया ना जाएगा.

Kehete hai allvidaa hum ab iss zahan ko,,,
Jaa kar khuda ke ghar se ab aya na jayegaa,,
Humne lagayi aag hai jo inkalaab ki,,,
Iss aag ko kisi se bujhayaa naa jayegaa,


शहीदों की क़ुरबानी बदनाम नही होने देंगे, बची हो जो एक बूंद भी लहू की, बची हो जो एक बूंद भी लहू की, तब तक भारत माता का आंचल निलाम नही होंगे देंगे।

Azaadi ki kabhi shaam nahi hone denge,,,
Sahidon ki kurbani badnaam nahi hone denge,,
Bachi ho jo ek bund bhi lahu ki,,
Tab tak bharat mata ki aanchal nilaam nahi hone denge

Advertisement

मेरे देश का मान हमेशा यूँ ही बनाये रखूँगा, दिल तो क्या जान भी इस पर निछावर कर दूंगा, अगर मिले एक भी मोका देश के काम आने का तो बिना कफ़न के ही देश के लिए सो जाऊंगा।

Mere desh ka naam humesa yu hi banaye rakhunga,,
Dill to kya jaan bhi iss par nichhabar kar dunga,,
Agar mile ek bhi mouka desh ke kaam anee kaa,,
To bina kafaan ke hi desh ke liye soo jaunga,


चलो फिर से खुद को जगाते है, अनुसाशन का डंडा फिर घूमाते है, सुनहरा रंग है गणतंत्र स्वतंत्रता का, शहीदों के लहू से ऐसे शहीदों को हम सब सर झुकाते है…

Advertisement

Chaloo fir se khud ko jagate he,,
Anusasan ka danda fir ghumate he,,
Sunhara ranga he ganatanta swatantrata ka,,
Sahidon ke lahu se ase sahidon ki hum sab sar jhukete hai,,


15 august hayari Independence Day Shayari


दे सलामी इस तिरंगे को,
जिस से तेरी शान है,
सर हमेशा ऊंचा रखना इसका,
जब तक तुझमें जान है

De salami iss tirange ko,,,
Jiss se teri shaan hai,,
Sar humesa uncha rakhna isska,,
Jab tab tujhme jaan hai,,


ज़माने भर में मिलते हे आशिक कई ,
मगर वतन से खूबसूरत सनम नहीं होता ,
नोटोंन में भी लिपट कर, सोने में सिमटकर मरे हे कई ,
मगर तिरंगे से भी खूबसूरत कोई कफ़न नहीं होता

Zamane bhar mein milte hai Ashiq kaii,,
Magar Batan se khubsurat koi sanam nahi hotaa,,
Noton me bhi lepat kar,, sone me simat kar mare he kaaii,,,
Magar tiranga se khubsurat koi kafan nahi hota,


वतन हमारा मिसाल मोहब्बत की,
तोड़ता है दीवार नफरत की,
मेरी ख़ुशनसीबी, मिली ज़‍िंदगी इस चमन में,
भुला न सके कोई इसकी खुशबु सातों जनम में !!
स्वतंत्रता दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं !!!

Batan humara misal mohabbat ki,,
Todta hai diwar nafrat ki,,
Meri khusnasib, mile zindegi iss chaman me,,,
Bhul na sake koi isski khusbu saton zanam me,,
Swatantrata diwas ki hardik shubhkamnaye!!!!!


मैं मुस्लिम , तू हिन्दू है, हैं दोनों इंसान;
मैं तेरी गीता पढ़ लूं, तू पढ़ ले मेरा कुरान..
अपने तो दिल में है दोस्त, बस एक ही अरमान…
एक थाली में खाना खाए सारा हिन्दुस्तान !!!

Me mushlim hu, tu Hindu hai, hai dono Insan;
Laa me tere gita padh lu, tu padh ke Kuran,;
Aapne to dill me hai dost, bas ek hi armaan…
Ek thali me khana khaye sara hindustan!!


जहाँ प्रेम की भाषा हैं सर्वोपरि
जहाँ धर्म की आशा हैं सर्वोपरि
ऐसा हैं मेरा देश हिन्दुस्तान
जहाँ देश भक्ति की भावना हैं सर्वोपरि

Yanha prem ki bhasa hai sarbopari,
Yanha dharm ki aasa hai sarbopari,
Asa hai mera desh hindusthan,
Yanha desh bhaki ki bhabna hai sarbopari


Latest Shayari in 2020 National holiday


मोहब्बत का दूसरा नाम हैं मेरा देश
अनेको में एकता का प्रतिक हैं मेरा देश
चंद गैरों की सुनना मुझे गँवारा नहीं
हिन्दू हो या मुस्लिम सभी का प्यारा है मेरा देश

Mohabbat ka dusra naam hai mera desh,
Aneko me ekta ka pratik hai mera desh,
Chand gouron ki sunna mujhe gabara nahi,
Hindu Ho ya mushlim sabhi ka pyar hai mera desh,


खुशनसीब हैं जो वतन पर कुर्बान हुये
जो तिरंगे में लिपट कर जिन्दगी से आजाद हुये
मर कर भी अमर हो गये वो
साधारण मनुष्य से शहीद की शहादत हो गये वो

Khushnaseeb hai jo batan par kurban hui,
Jo tirange me lipat kar zindegi se azaad hui,
Mar kar bhi amaar ho gayi woh,,
Sadharan manushya se sahid ki sahadat ho gaye woh


मोक्ष पाकर स्वर्ग में रखा क्या हैं
जीवन सुख तो मातृभूमि की धरा पर हैं

तिरंगा कफ़न बन जाये इस जनम में
तो इससे बड़ा धर्म क्या हैं

Moksh paakar swarg me rakha kya hai,,
Ziban sukh to matrubhumi ki dhara par hai,,
Tiranga kafaan ban jaye iss zanam me,,
To iss se bada dharm kya hai


कीमत करो शहीदों की
वो देश पर कुर्बान हुए
सिर्फ दो दिनों की मोहताज नहीं हैं देश भक्ति
नागरिको की एकता ही हैं देश की असल शक्ति

Kimaat karo sahidon ki,,
Woh desh par kurban hua,,
Sirf do dino ki moohtaz nahi hai desh bhakti,,
Nagriko ki ekta hi hai desh ki asaal bhakti


latest national holiday Shayari in Hindi


में भारत वर्ष का हरदम अमिट सम्मान करता हूँ, यहाँ कि सुनहरी मिट्टी का गुणगान करता हूँ, मुझे चिंता नही है, स्वर्ग जाकर मोक्ष पाने कि तिरंगा हो कफ़न मेरा बस यही अरमान रखता हूँ…

Me bharat barsh ka hardam amiit samman karta hun,,
Yanha ki sunhari mitti ka gungaan karta hun,,
Mujhe chinta nahi he, swarg jaakar moksh pane ki,,
Tiranga ho kafaan mera bas yehi armaan rakhtaa hun,


इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना,
इतनी सी बात हवाओं को बताए रखना, रौशनी होगी चिरागों को जलाये रखना, लहू लेकर की है जिसकी हिफ़ाजत हमने,

Itni si baat habaoon ko bataaye rakhna,,
Itni si baat habaoon ko bataaye rakhna,,
Roushni hogi chiragon ke jalaye rakhna,,
Lahu lekar ki hai jishki hifaazat humne


न मरो अपनी बेवफा सनम के लिये, दो गज जमीन नही मिलेगी दफ़न होने के लिए, अगर मरना ही हैं तो मरो अपने वतन के लिए, हसीना भी ख़ुशी से दुप्पटा उतार देगी तुम्हारे कफ़न के लिए।

Naa mere aapni bewafa sanam ke liye,,
Doo gaz zamin nahi milegi dafan hone ke liye,,
Agar marna hi ho to mere aapne baatan ke liye,,
Hasina bhi khusi se dupatta utaar degi tumhare kafaan ke liye


Thank you for Visiting


15 August भारत स्वतंत्रता दिवस (Independence Day) मनाएगा। 15 अगस्त, 1947 के दिन हिन्दुस्तान अंग्रेजों की गुलामी से आजाद हुआ था। तब से हर साल देश में 15 अगस्त का दिन स्वतंत्रता दिवस के तौर पर मनाया जाएगा। भारत के प्रधानमंत्री दिल्ली के लाल किले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराते हैं. 15 अगस्त को स्कूलों से लेकर दफ्तरों में तिरंगा फहराया जाता है। हमें जो आजादी मिली उसमें इस मातृभूमि के लाखों अमर सपूतों ने अपने प्राणों की कुर्बानी दी थी। इस राष्ट्रीय पर्व के जश्न के मौके पर हम अपने प्राणों को न्यौछावर करने वीरों को याद करें। एक-दूसरे को शुभकामना संदेश भेजें। तो आइए उन बलिदानियों की भावनाओं दर्शाने वाले शेर, शायरी और संदे्श लोगों तक पहुंचाएं।

Advertisement

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: