Maa Shayari

Maa Shayari | Special – Maa Shayari in Mother Day in 2020

Advertisement

Best Hindi Quote On Maa Shayari | Mothers Day Heart Touching 2 Line Shayari In Hindi. Hindi Shayari Collestion provide you latest shayari for mom’s love for daughter and son in hindi and English. Feel the mother Shayari in shayari, maa-baap ki shayari in hindi font.


You’ll get latest top content on Maa shayari in different font and categories as Hindi shayari,Good morning Shayari, Love Shayari, 2 Line Shayari, Friendship Shayari, Rakhi Shayari, Funny Joke Attitude, Romantic, Motivational status updates for facebook and whatsapp etc on Maa Shayari


Maa Shayari 2 Line in English


उमर भर तेरी मोहब्बत मेरी खिदमतगार रही माँ,
मैं तेरी खिदमत के काबिल जब हुआ तू चली गयी माँ।

Umar Bhar Teri Mohabbat Meree Khidmatgar Rahi Maa,
Main Teri Khidmat Ke Kabil Jab Hua Tu Chali Gayi Maa.


अपनी माँ को कभी न देखूँ तो चैन नहीं आता है,
दिल न जाने क्यूँ माँ का नाम लेते ही बहल जाता है।

Apni Maa Ko Kabhi Na Dekhu To Chain Nahi Aata Hai,
Dil Na Jaane Kyun Maa Ka Naam Lete Hi Bahal Jata Hai.


चलती फिरती आँखों से अज़ाँ देखी है,
मैंने जन्नत तो नहीं देखी है माँ देखी है।

Chalti Firti Aankhon Se Azaan Dehi Hai,
Maine Jannat To Nahi Dekhi Hai Maa Dekhi Hai


यूँ तो मैंने बुलन्दियों के हर निशान को छुआ,
जब माँ ने गोद में उठाया तो आसमान को छुआ।

Yun To Maine Bulandiyon Ke Har Nishaan Ko Chhua,
Jab Maa Ne God Mein Mujhko Uthaya To Aasman Ko Chhuaa.


काला टीका दूध मलाई आज भी सब कुछ वैसा है,
मैं ही मैं हूँ हर जगह प्यार ये तेरा कैसा है?

Kala Teeka Doodh Malayi Aaj Bhi Sab Kuchh Waisa hi Hai,
Main hi Main Hu Har Jagah par Pyaar Yeh Tera Kaisa Hai.


घुटनों से रेंगते-रेंगते जब पैरों पर खड़ा हुआ,
माँ तेरी ममता की छाँव में जाने कब बड़ा हुआ

Ghutno Se Rengate-Rengate Kab Pairon Par Khada Hua,
Maa Teeri Mamta Ki Chhaab Mein Jaane Kab Bada Hua.


Latest Maa ki shsyari


किसी भी ​मुश्किल अब किसी को हल नहीं मिलता,
​शायद अब घर से कोई माँ के पैर छूकर नहीं निकलता​।।

Advertisement

Kisi Bhi Mushkil Ka Ab Kisi Ko Hal Nahi Milta he,
Shayad ab Ghar Se Koi Maa Ke Paaire hukar Nahi Nikalta.


वो लिखा के लायी है किस्मत में जागना,
माँ कैसे सो सकेगी कि बेटा सफ़र में है।।

Woh Toh Likha Ke Laayi Hai Kismat Mein Jaagna,
ye maa Kaise So Sakegi Ki Beta safar Mein Hai


अपनी माँ को कभी न देखूँ तो चैन नहीं आता है,
दिल न जाने क्यूँ माँ का नाम लेते ही बहल जाता है।।

Apni Maa Ko Kabhi Na Dekhu Toh Mujhe Chain Nahi Aata Hai..,
Dil Na Jane Kyu ye Maa Ka Naam Sochte Hi Bahal Jata Hai.


नहीं हो सकता कद तेरा ऊँचा किसी भी माँ से ए खुदा,
तू जिसे आदमी बनाता है, वो उसे इन्सान बनाती है।।

Nahi Ho Sakta Kad Tera Uncha Kisi Bhi Maa Se Ai Khuda,
Tu Jise Aadmi Banata Hai Woh Use Insaan Banati Hai


बद्दुआ संतान को इक माँ कभी देती नहीं,
धूप छाले मिले जो छाँव बैठी है सहेज

BadDuaa Santaan Ko Ek Maa Kabhi Deti Nahin,
Dhoop Chhale Mile Jo Chhaon Baithhi Hai Sehej.


तेरे क़दमों में ये सारा जहान होगा एक दिन,
माँ के होठों पे तबस्सुम को सजाने वाले।

Tere Kadmon Mein Yeh Saara Jahan Hoga Ek Din,
Maa Ke Hothhon Pe Tabassum Ko Sajaane Wale

Advertisement

गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने.,
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।

Gin Leti Hai Din Bagair Mere Gujare Hai Kitne.,
Bhala Kayshe Kah Doon Ki Maa Anparh Hai Meri.


Mother Love Shayari in Hindi


मुझको छाँव में रखा, खुद जलता रहा धूप में..
मैंने देखा है एक फरिश्ता बाप के रूप में..

mujhko Chhanv mein rkha, khud jalta rha Dhoop mein..
Maine dekha hai Ek Farishta Baap ke Roop mein


देखता हूँ खुद को हमेशा माँ की आँखों में,
यह वो आईना है जिसमे मैं कभी बूढ़ा नहीं होता ||

Dekhta hu khud ko hmesha Maa ki ankho mein,
yeh wo ayina hai jisme main kabhi budha nahi hotaa..


कहने को तो सब अपने है मगर, काश कोई ऐसा हो जो कहे…
के तेरे दर्द से मुझे तकलीफ होती है … ||

Kahne ko to sab apne hai magar, kaash koi aisa ho jo kahe..
ke tere Dard se mujhe takleef hoti hai.


ज़ख्म जब बच्चे को लगता है तो माँ रोती है,
ऐसी निस्बत किसी और रिश्ते में कहाँ होती है।

Zakhm Jab Bachche Ko Lagta Hai To Maa Roti Hai,
Aisi Nisbat Kisi Aur Rishte Mein Kahan Hoti Hai.


करो दिलसे सजदा तो इबादत बनेगी,
मॉ बाप की सेवा अमानत बनेगी…,
खुलेगा जब तुम्हारे गुनाहों का खाता,
तो मॉ बाप की सेवा जमानत बनेगी

Karo Dill se Sazdaa to Ibaadat banegi,,
Maa Bapa ki Seva Amaanat banegi…,
Khulega jab tumhare gunahon ka khataa,,
To Maa Bapa ki seba zamanat banegi,

Advertisement

उम्र भर खाली यूं ही मकान हमने रहने दिया,
तुम गए तो दूसरे को कभी यहां रहने ना दिया,
मैंने कल सब चाहतों की किताबे फाड़ दी,
सिर्फ एक कागज पर लिखा मां रहने दिया।

Umar bhar khali yun hi makaan humne rahene diya,,
Tum Gaye to dusre ko kabhi yanha rahene naa diya,,,
Maine kaal sab chahton ki kitaab faad di,,
Sirf ek kagaj par likha Maa rahene Diya


Maa ki yaad shayari


माँ की अजमत से अच्छा जाम क्या होगा,
माँ की खिदमत से अच्छा काम क्या होगा,
खुदा ने रख दी हो जिस के कदमो में जन्नत,
सोचो उसके सर का मुकाम क्या होगा।

MAA ki Azmaat se achha zaam kya hoga,,
MAA ki khidmaat se achha kaam kya hoga,,
Khud ne rakh dii ho jiss ke kadmoo me zanaat,,,
Socho unke sara ka mukaan kya hoga


सीधा साधा भोला भाला मैं ही सब से सच्चा हूँ,
कितना भी हो जाऊं बड़ा माँ आज भी तेरा बच्चा हूँ।

Seedha Shadha Bhola Bhala Main Hi Sabse Achchha Hoon…
Kitna Bhi Ho Jaun Badda Maa Aaj Bhi Tera Bachcha Hoon…!


ऐ अँधेरे देख मुँह तेरा काला हो गया…….
माँ ने आँखें खोल दी और घर में उजाला हो गया।

Aye Andhere Dekh Tera Munh Kala Ho Gaya,
Maa Ne Aankhein Khol Di Ghar Mein Ujala Ho Gaya.


कुछ इस तरह वो मेरे गुनाहों को धो देती है,
माँ बहुत गुस्से में होती है तो रो देती है।

Kuchh Iss Tarah Mere Gunaaho Ko Dho Deti Hai,
Maa to Bahut Gusse Mein Hoti Hai To Ro Deti Hai…..


गिन लेती है दिन बगैर मेरे गुजारें हैं कितने,
भला कैसे कह दूं कि माँ अनपढ़ है मेरी।

Gin Leti Hai Din Bagair Mere Gujare Hain Kitne,
Bhala Kayshe Kahu Doon Ki Maa Anparh Hai Meri..


पहाड़ो जैसे सदमे झेलती है उम्र भर लेकिन,
बस इक औलाद की तकलीफ़ से माँ टूट जाती है।

Pahaado Jaise Sadme Jhelti Hai Umr Bhar Lekin…
Bas Yak Aulad Ki Takleef Se Maa Toot Jati Hai.


ज़ख्म जब बच्चे को लगता है तो माँ रोती है,
ऐसी निस्बत किसी और रिश्ते में कहाँ होती है।

Zakhm Jab Bachche Ko Lagta Hai To Maa Roti Hai,
Aisi Nisbat Kisi Aur Rishte Mein Kahan Hoti Hai.


Maa ki mamta shayari


स्कूल का वो बस्ता मुझे फिर से थमा दे माँ,
जिंदगी का सफ़र मुझे बड़ा मुश्किल लगता है।

School Ka Woh Basta Mujhe Fir Se thamma De Maa,
Zindagi Ka Safar Mujhe Badaa Mushkil Lagta Hai.


जब-जब कागज पर मैं लिखा मैंने माँ का नाम,
कलम अदब से बोल उठी गये चारों धाम।

Jab Jab Kagaj Par Likha Maine Maa Ka Naam,
Kalam Adab Se Bol Uthi Ho Gaye Charo Dhaam.


उसके होंठों पे कभी बद्दुआ नहीं होती,
बस इक माँ है जो कभी खफा नहीं होती।

Uske Hontho Pe Kabhi Bad-dua Nahi Hoti,
Bas Ek Maa Hai Jo Kabhi Khafa Nahi Hoti


ये कैसा कर्ज़ है जिसे मैं अदा कर ही नहीं सकता,
मैं जब तक घर न आ जाऊं माँ सजदे में रहती है।

Yeh Aisa Karz Hai Jishe Maine Ada Kar Hi Nahi Sakta,
Main Jab Tak ki Ghar ko Na Aa Jaun Maa Sajde Mein Rehti Hai….


बहुत बुरा हो फिर भी उसको बहुत भला कहती है
अपना गंदा बच्चा भी माँ दूध का धुला कहती है।

Bahut Bura Ho Phir Bhi Usko Bahut Bhala Kahti Hai,
Apna Ganda Bachcha Bhi Maa Doodh Ka Dhula Kahti hai,,


कही हो जाये ना घर की मुसीबत लाल को मालूम,
छुपा कर तकलीफें तेरा मुस्कुराना याद आता है।

Kahin Ho Na Jaye Ghar Ki Museebat Laal Ko Maloom,
Chhupa Kar Takleefein Tera Muskurana Yaad Aata Ha


उसके होंठों पे कभी बद्दुआ नहीं होती,
बस इक माँ है जो कभी खफा नहीं होती।

Uske Hontho Pe Kabhi Bad-dua Nahi Hoti,
Bas yak Maa Hai Joki Kabhi bhi Khafa Nahi Hoti.


जब भी कश्ती मेरी सैलाब आ जाती है,
माँ दुआ करती ख्वाब में आ जाती है।

Jab Bhi Kashti Meri Sailaab Mein Aa Jaati Hai,
Maa Dua Karti Khwaab Mein Aa Jaati Hai.


Mother day Special Shayari


बंद किस्मत के लिये कोई चाभी नही होती
सुखी के उम्मीदों की कोई डाली नही होती
जो झूक जाए माँ -बाप के चरणों में
उसकी झोली कभी खाली नही होती

Band kismat ke liye koi chabi nehi hote,,
Khusi ke Ummidon ki koi dalii nahi hote,,
Jo jhuk jaee maa bapa ke charno me,,
Uski jhooli kabhi khali nahi hote,


करो दिलसे सजदा तो इबादत बनेगी,
मॉ बाप की सेवा अमानत बनेगी…,
खुलेगा जब तुम्हारे गुनाहों का खाता,
तो मॉ बाप की सेवा जमानत बनेगी


हर रिश्ते में मिलावट देखी कच्चे रंगों की सजावट देखी
लेकिन सालो साल देखा है माँ को
उसके चेहरे पर न थकावट देखी
ना ममता में मिलावट देखी

Har rishta me millabat dikhe
Kache rango ki sazabat dikhe
Lekin saalo saal dikhe he maa ko
Uske chehre par na thakabat dekhe
Naa Mamta me millabat dikhe


हर पल में ख़ुशी देती है माँ,
अपनी ज़िन्दगी से जीवन देती है माँ..
भगवन क्या है माँ की पूजा करो जनाब!!!
क्योंकि भगवान को भी जनम देती है माँ..

Har Pal mein khushi deti hai Maa,
Apni Zindagi se Jeevan deti hai Maa..
Bhagwan kya hai Maa ki Pooja karo Jnab!!!
Kyaunki Bhagwan ko bhi janam deti hai Maa..


भरे घर में तेरी आहट मिलती नहीं अम्मा
तेरी बाहों की नरमाहट कहीं मिलती नहीं अम्मा
मैं तन पर लादे फिरता हूँ दुशले रेशमी ले किन में,
तेरी गोदी की गरमाहट कहीं मिलती नहीं अम्मा

Bhare ghar mein teri aahat milti nae amma
Teri bahon ki narmahat kahi milti nae amma
me tan par laade firta hun dushaale reshmi lekin
Teri godi ki garmahat kahi milti nahi meri amma…


Thank you for visiting


Mother is the name for God in the lips and hearts of little children. Life dont come come with a manual, it will comes with our mother. This is the special Creation for maa. Maa Shayari.

There is no substitute for the mother in this world and it is considered as the second form of God. Everyone loveing his Mothe and they want to share there feeling, Maa Shayari to her. We have a beautiful collection of Maa Shayari in Hindi. Just share your fevorite Shayari to your Mother and keep them Happy.

Advertisement
Tags :

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: