मतलबी शायती हिंदी में | मतलबी लोग | Best 50+ Matlabi Shayari in Hindi

Matlabi Shayari in Hindi

Matlabi Shayari Hindi /मतलबी शायरी हिंदी मै – इस पोस्ट में आपके लिए बहत सारे बेहतरीन मतलबी सायरी इन हिंदी का collestion लएहे। आज इस दुनुया मे बहत सारे ऐसे लोग है जो कि अपनी मतलब के लिए कुछ भी करते है। 

इसके बजे से दूसरों को बहत सारे राक्लीफ साहनी पड़ती है। अगर आपको ये Matlabi Shayari पसंद आजाये तो, एशे शेयर या डाउनलोड करके आपके दोस्तों को भेजिये।

समझना मुश्किल है वो चाहत को
जो चाहने के लिए भी वजह ढूंढते
परखना मुस्किल है उन मासूमों को
जो कुछ मतलब के लिए  जिंदगी मै आते

जान जिसको समझते थे वो मेरे साथ ऐसा किया
भरोसा जिस पर करते थे वो हमको मतलबी कहा

मेरा गलती है तुमको पागोलो की तरह चाहना
मेरा गलती है तुम्हारी हर ख्वाहिश को पुरी करना
क्यू की महब्बत किया तुम्हारी मतलबी को जाने बिना

ये दोस्त भी ना अजीब होते है
हमारे पास कुछ काम हो तो बुलाते
नही तो आपको ठुकरा कर चले जाते
वो दोस्त तो हमेशा मतलब की लिए ही जीतें

ये दुनियां मतलबी हुआ तो क्या हुआ
मै दुनिया के लिए नही खुद के लिए जीता हूं
बताओ अब क्यू मै दुनियां की परवा करूं

Matlabi Shayari in Hindi

मतलबी शायरी हिंदी मै

मतलबी सी दुनिया मै जीना आसान नही है
जीने के लिए खुद के बदलना जरूरी है

बेवफा थी वो जो हमे भूला गई
हम नही चाहे उनकी तरह जीने की
बन गए उनसे भी बड़ कर मतलबी

नहीं सोचाथा इस तरह बदल जाओगे
अपने मतलब के लिए ही हमे छोड़ जाओगे

तू सही है  पता है मुझे
और तेरे बारे मै जानने की ज़रूरत नही है मुझे
क्या करे मजबूर है
तुम जैसे मतलबी से प्यार है मुझे

ना जानें किसकी सजा दे रहे हो मुझे
अपने मतलब के लिए क्यू चुना मुझे
महब्बत करके भुला दिया मुझे

Matlabi Shayari in Hindi

Matlabi Shayari in Hindi

सोचते ही दर्द लगता है इन लोगो के बारे मै
ये कैसे मतलबी है जो अपने फायदे को ही देखते
अपने मतलब के लिए और किसके साथ खेलते

दुनियां के बारे मै क्या बताऊं सब सारे मतलबी है
खुद की भोरोशे मै जियो कोई साला कहने को नही है

एकला था जिंदा था तुमने आके हमको मरवा दिया
क्यू तुम इतना मतलबी से हमको प्यार किया
जो मेरा मासूम सा दिल जो था तोड़ गया

भोरोशा मत करना उन बेवोफाओ से
वो साले प्यार करते है मतलबी से

आंखो मै आंसू जिगर मैं बेदर्द सा मौत
जिसको प्यार किया था मैं उनकी काबिल नही था शायद
इसीलिए ही वो मतलब मैं आ के  दिल को दी है आहत

Matlabi Shayari in Hindi

Matlab ki Shayari in Hindi

शायद अब मेरे ज़रूरत ना है तुझे
जिस मतलब के लिए चुना था मुझे
लगता है वो अभी पूरा हो गया है
क्यू की तुम अब पहले की तरह नही रही है

उपर से मासूम अंदर से मनहूस लगते हो तुम
कोई भी नही सोचेगा कितना मुजरिम हो तुम
करीब से जो पहेचानने वाला ही
जनता है कितनी मतलबी हो तुम

बेदर्द सा रोता हुं दिल से
जो पहेचाना तुम्हे करीब से
और गलाती नही होगा मुझसे
अब महब्बत नही है वो मतलबी चेहरे से

दुनियां ने हमे ठुकराया है
तुमने हमको अपनाया है
अब कहा दूर जाना है तुमसे
बेमतलब सा प्यार है हमसे

कोई मतलब नही है मेरे इश्क की
तोड़ा कदर करो इस प्यार की
करीब होना है तुम्हारी दिल की

Matlabi shayari

Matlabi Duniya Shayari in Hindi

ख्वाहिश तुमको पाने की
अब ख्वाहिश है तुमको भुलाने की
क्यू की तुम मतलबी सी निकली

सिर्फ भोरोषा दिलाना नही निभाना भी होती है
जो भोरोषा दिलके भोरोषा तोड़ते है
उनको मतलबी कहते है

वो रिश्ता भी थी एक रिश्ता जो तुमने निभाया
जो जोड़ने से पहले ही खतम हो गया
क्यू की मतलबी सी था वो रिश्ता
जो एक दूसरे को बिस्वास करने से नाराज़ था

कोमजोर लोग क्या समझेंगे कठिन रिश्ते को
वो तो फिर मतलब के लिए ही रिश्ते जुड़ते
क्यू की वो प्यार का मतलब नही समझते

जिंदगी मै कोई आता है तो कोई जाता है
कोई परवा नही तेरी आने जानें मै
तुम्हारी तरह मतलब से रिश्ता नही जुड़ता मैं
जो मुझे कोई मेहसूस नही होता तुमको खोने मै

Matlabi Log Shayari in Hindi

बुरा वक्त मै साथ देना ही सिखाथा
अब सीखा खुद का मतलब हो तो साथ देना
नही तो वो दोस्त को भालू जाना
जो खुद के काम मै नही आता और मदत मांगता

Leave a Reply