Shayari on Maut in Hindi

Shayari on Maut in Hindi | Latest Pain Shayari, मौत शायरी, इन हिंदी 2020

Advertisement

Shayari on Maut in Hindi, Latest Pain Shayari, मौत शायरी, इन हिंदी is all about death in love Shayari on Maut. Death is not just a word, it is a deep reality which we all have to adopt even after not wanting it. This is a truth that everyone thinks about Maut. Death never comes, It comes suddenly. You want to know the true meaning of death Shayari on Maut, then you can Know through these poets. This is the new collection of Maut Shayari containing death Shayari in Hindi.

Our Trending Shayari on Maut Sad Shayari, Shayari on Maut , Maut ki Shayari, Ansh Panit Shayari, Bewafa Shayari, Funny Shayari and Life Shayari, Shayari on Maut Everyone have to face death one day or the other, but knowing this truth, people are afraid. The other aspect of this is that life seems like death at times. Read this Shayari on Maut


Shayari on Maut in Hindi


जो कभी हमारी ज़िन्दगी हुआ करती थी ….
आज मौत कि वजह भी वही है ।।

Jo Kabhi Humare Zindegi Hua Karti Thi …
Aaj Mout Ki Bajah Bhi Wahi Hai …


मुझे ओरों से क्या गीला- शिकवा जब चाल मेरे अपनों का ही है….
आंसू उसकी आंखों में मेरी मौत का या फिर खुद की बिदाई का है !!

Mujhe Geron Se Kya Gila – Sikhwa Jab Chal Meri Apno Ka Hi Hai …..
Asun Uski Ankhon Main Meri Mout Ka Ya Fir Khud Ki Bidayi Ka Hai !!!


मौत तेरा डर नहीं अब मुझे कोई गम नहीं ,
तू आ भी गई तो खुशी खुशी लगा लूंगा तुझे गले …
क्यों की इस जहां में अभी कोई अपना नहीं ।।

Mout Tera Dar Nahi ,Ab mujhe Koi Gam Nahi ….
Tu Aa Bhi Gayi To Khusi Khusi Laga Lunga Tujhe Gale ….
Kiun Ki Iis Jahan Main Abhi Koi Apna Nahi !!


तू जो सिवाए मेरे किसी ऑर को चाहे ,,,
खुदा करे उस से पहले मौत मुझे अपने गले लगा ले ।।

Tu Jo Sibaye Mere Kisi Or Ko Chahe…..
Khuda kare Us Se Pehle Mout Mujhe Apne Gale Lagale …..

Advertisement

अब मौत से कहो कि नाराजगी तोड़ दे हमसे ,
अब जीने की कोई बजह नहीं है हमारे पास ।।

Ab Mout Se Kaho Ki Narajgi Tod De Humse ,
Ab Jine Ki Koi Bajah Nahi Hai Humare Pass …..


मौत एक सच्चाई है उसमे कोई ऐब नहीं,
क्या लेके जाओगे यारों कफ़न में कोई जेब नही।

Maut Ek Sachchai Hai Usme Koyi Aib Nahin,
Kya Leke Jaoge Yaaro Kafan Me Koyi Jeb Nahi.


Pain shayari in Hindi


चूम कर कफ़न में लपटे मेरे चेहरे को
उसने तड़प के कहा,
नए कपड़े क्या पहन लिए, हमें देखते भी नहीं’।

Choom Kar Kafan Me Lapte Mere Chehre Ko,
Usne Tadap Ke Kaha…
Naye Kapde Kya Pahn Liye, Hume Dekhte Bhi Nahin.


जहर के असरदार होने से कुछ नही होता साहब
खुदा भी राजी होना चाहिये मौत देने के लिय.

Jahar Ke Asardar Hone Se Kuchh Nahi Hota Sahab,
Khuda Bhi Raazi Hona Chahiye Maut Dene Ke Liye.


कोई नही आऐगा मेरी जिदंगी मे तुम्हारे सिवा,
एक मौत ही है, जिसका मैं वादा नही करता।

Koyi Nahi Aayega Meri Zindangi Me Tumhare Siva,
Ek Maut Hi Hai, Jiska Main Wada Nahi Karta


करनी मुझे खुदा से एक फरियाद,
बाकी है कहनी उनसे एक बात बाकी है,
मौत भी आ जाये तो कह दूंगी,
जरा रुक जा अभी मेरे दोस्तो से एक मुलाक़ात बाकी है।

Advertisement

Karni Mujhe Khuda Se Ek Fariyaad,
Baki Hai Kahni Unse Ek Baat Baki Hai,
Maut Bhi Aa Jaaye To Kah Dungi,
Jara Ruk Ja Abhi Mere Dosto Se Ek Mulaqat Baki Hai.


अगर वो अपनी मोहब्बत हमें बना लें,
हम उनका हर ख्वाब अपनी पलकों पे सजा लें,
करेगी कैसे मौत हमें उनसे जुदा,
अगर वो हमें अपनी रूह में बसा लें।

Agar Wo Apni Mohabbat Hame Bana Len,
Ham Unka Har Khwaab Apni Palkon Pe Saja Len,
Karegi Kaise Maut Hame Unse Judaa,
Agar Wo Hame Apni Rooh Mein Basa Len.


Maut Shayari Rekhta


तमन्ना ययही है बस एक बार आये,
चाहे मौत आये चाहे यार आये।

Tamanna Yehi Hai Bas Ek Baar Aaye,
Chaahe Maut Aaye Chaahe Yaar Aaye.


सुना है तुम तकदीर देखने का हुनर रखते हो,
मेरा हाथ देखकर बताना कि पहले तुम आओगे या मौत।

Suna Hai Tum Takdeer Dekhne Ka Hunar Rakhte Ho.
Mera Haath Dekhkar bolo Ki Pahle Tum Aaoge Yaa Maut.


अंदर से तो कब के मर चुके है हम
ए मौत तू भी आजा लोग सबूत मांगते हैं।

Andar Se To Kab Ke Mar Chuke Hai Ham
Aee Maut Tu Bhi Aja, Log Saboot Maangte Hain.


वक़्त गुज़रेगा तो हम संभल जायेंगे,
मौत आने से पहले समझ जायेंगे,
कि बेवफ़ाई उनकी फ़ितरत है ना की मजबूरी,
तन्हाई में ही सही, हम फिर से बस जायेंगे।

Wakta Guzrega To Ham ushe Sambhal Jaayenge,
Maut Aane Se Pahle Samajh Jaayenge,
Ki Bewafai Unki Fitrat Hai Na Ki Majaboori,
Tanhay Mee Hi Sahi, Ham Phir Se Bas hi Jaayenge.

Advertisement

बिन आपके कुछ भी अच्छा नहीं लगता,
अब मेरा वजूद भी सच्चा नहीं लगता,
सिर्फ आपके इंतज़ार में कट रही है ये ज़िंदगी,
वरना मौत के आगोश में सो जाती ये ज़िंदगी।

Bin Aapke Kuchh Bhi Achchha Nahi Lagta,
Ab Mera Wajood Bhi Sachcha Nahi Lagta,
Sirf Aapke Intezaar Me Kat Rahi Hai Ye Zindagi,
Warna Maut Ke Aagosh Me So Jaati Ye Zindagi.


Shayari on Maut and Zindagi


यूँ तो हादसों में गुजरी है हमारी ज़िंदगी,
हादसा ये भी कम नहीं कि हमें मौत ना मिली।

Yun Toh Haadson Mein Gujri Hai Humari Zindgi,
Haadsa Yeh Bhi Kam Nahi Ke Humein Maut Na Mili.


मेरी ज़िंदगी तो गुजरी तेरे हिज्र के सहारे,
मेरी मौत को भी कोई बहाना चाहिए।

Meri Zindagi Toh Gujri Tere Hijr Ke Sahare,
Meri Maut Ko Bhi Koi Na Koi Bahana Chahiye.


ले रहा है तू खुदाया इम्तेहाँ दर इम्तेहाँ,
पर स्याही ज़िंदगी की खत्म क्यूँ होती नहीं।

Le Raha Hai Tu Khudaya Imtehaan Dar Imtehaan,
Par Syaahi Zindagi Ki Khatm Kyun Hoti Nahi.


तसव्वर में न जाने कातिबे-तकदीर क्या था,
मेरा अंजाम लिखा है मेरे आगाज से पहले।

Tasawwar Mein Na Jaane Katib-e-Taqdir Kya Tha,
Mera Anjaam Likha Hai Mere Aagaaz Se Pahle.


मैं अब सुपुर्दे ख़ाक हूँ मुझको जलाना छोड़ दे,
कब्र पर मेरी उसके तू साथ आना छोड़ दे,
हो सके गर तू खुशी से अश्क पीना सीख ले,
या तू आँखों में अपनी काजल लगाना छोड़ दे।

Main Abb Supurde Khaak Mujhko Jalana Chhod De,
Qabra Paar Meri Tu Uske Saath Aana Chhod Dee,
Ho Sake to Tu Khushi Se Ashqi ko Peena Seekh Le,
Ya Tu Aankhon Mein Apni Kajal Lagana Chhod De.


Maut Shayari in Hindi for Girlfriend


अगर कल फुर्सत न मिली तो क्या होगा,
इतनी मोहलत न मिली तो क्या होगा,
रोज़ कहते हो कल मिलेंगे कल मिलेंगे,
कल मेरी आँखे न खुली तो क्या होगा।

Agar Kal Fursat Na Mili Toh Kya Hoga,
Itni Mohlat Na Mili Toh Kya Hoga,
Roj Kahte Ho Kal Milenge Kal Milenge,
Kal Meri Aankh Na Khili Toh Kya Hoga.


अपने क़ातिल की ज़ेहानत से परेशान हूँ मैं,
रोज़ इक मौत नए तर्ज़ की ईजाद करे।

Apne Qatil Ki Zehanat Se Pareshan Hun Main,
Roj Ik Maut Naye Tarz Ki Eejaad Kare.


जिन्दगी कशमकश-ए-इश्क के आगाज का नाम,
मौत अंजाम इसी दर्द के अफसाने का।

Zindgi KashmKash-e-Ishq Ke Aagaz Ka Naam,
Maut Anjaam Hai Isee Dard Ke Afsaane Ka.


ओढ़ कर मिट्टी की चादर बेनिशान हो जायेंगे,
एक दिन आएगा हम भी दास्ताँ हो जायेंगे।

Odh Kar Mitti Ki Chadar BeNishan Ho Jayenge,
Ek Din Aayega Hum Bhi Dastaan Ho Jayenge.


सौ जिंदगी निसार करूँ ऐसी मौत पर,
यूँ रोये ज़ार-ज़ार तू अहल-ए-अज़ा के साथ।

Sau Zindagi Nisaar Karun Aisi Maut Par,
Yun Roye Zaar Zaar Tu Ahl-e-Azaa Ke Saath.


दो अश्क मेरी याद में बहा जाते तो क्या जाता,
चन्द कालियां लाश पे बिछा जाते तो क्या जाता,
आये हो मेरी मय्यत पर सनम नक़ाब ओढ़ कर तुम,
अगर ये चांद का टुकडा दिखा जाते तो क्या जाता।

Do Ashq Meri Yaad Mein Bahaa Jate Toh Kya Jata,
Chand Kaliyan Laash Pe Bichha Jate Toh Kya Jata,
Aaye Ho Meri Mayat Pe Sanam Naqaab Odhkar,
Agar Yeh Chaand Ka Tukda Dikha Jaate Toh Kya Jata.


Pain Shayari in Hindi


जो आपने न लिया हो, ऐसा कोई इम्तिहान न रहा,
इंसान आखिर मोहब्बत में इंसान न रहा,
है कोई बस्ती, जहां से न उठा हो ज़नाज़ा दीवाने का,
आशिक की कुर्बत से महरूम कोई कब्रिस्तान न रहा।

Jo Aapne Na Liya Ho Aisa Koi Imtehaan Na Raha,
Insaan Aakhir Mohabbat Mein Insaan Na Raha,
Hai Koi Basti Jahan Se Na Utha Ho Janaza Diwane Ka,
Ashiqi Ki Qurbat Se Mahrom Koi Qabristan Na Raha.


अब तलक हम मुन्तजिर हैं जिनके,
उनको हमारा ख्याल तक न आया,
उनके प्यार में हमारी जान तक चली गयी,
और उनको हमारी मौत का मलाल तक न आया।

Abb Talak Muntzir Hain Jinke,
Unko Hamara Khayal Tak Na Aaya,
Unke Pyaar Mein Hamari Jaan Tak Chali Gayi,
Aur Unko Hamari Maut Ka Malal Kabhi Tak Na Aaya.


एक दिन हम कफ़न ओढ़ जायेंगे,
सब रिश्ते इस जमीन के तोड़ जायेंगे,
जितना जी चाहे सता लो मुझको,
एक दिन रोता हुआ सबको छोड़ जायेंगे।

Ek Din Hum Bhi Kafan Odh Jayenge,
Sab Rishte Iss Jameen Se Tod Jayenge,
Jitna Jee Chaahe Sataa Lo Mujhko,
Ek Din Rota Huya Sabko Chhod Jayenge.


2 Line Pain Shayari, Maut Shayari


जला है जिस्म तो दिल भी जल गया होगा,
कुरेदते तो जो अब राख जुस्तजू क्या है।

Jala Hai Jism Toh Dil Bhi Jal Gaya Hoga,
Kuredte Ho Jo Ab Raakh Justjoo Kya Hai.


कितनी अज़ीयत है इस एहसास में,
कि मुझे तुझसे मिले बिना ही मर जाना है।

Kitni Aziyat Hai Iss Ehsaas Mein,
Ke Mujhe Tujhse Mile Bina Hi Mar Jana Hai.


हर साँस का तू एहतराम कर वरना,
वो जब चाहे, जहाँ चाहे, आखिरी कर दे।

Har Ek Saans Ka Tu Ehtraam Kar Varna,
Wo Jab Chahe, Jahan Chahe, Aakhiri Kar De.


ऐ हिज्र वक़्त टल नहीं सकता है मौत का,
लेकिन ये देखना है कि मिट्टी कहाँ की है।

Ai Hijr Waqt Tal Nahi Sakta Hai Maut Ka,
Lekin Ye Dekhna Hai Ke Mitti Kahan Ki Hai.


कहानी खत्म हो तो कुछ ऐसे खत्म हो,
कि लोग रोने लगे तालियाँ बजाते बजाते।

Kahani Khatm Ho Toh Kuchh Aise Khatm Ho,
Ke Log Rone Lage Taaliya Bajate Bajate.


ऐ मौत ठहर जा तू जरा मुझे यार का इंतज़ार है,
आएगा वो जरूर अगर उसे मुझसे सच्चा प्यार है।

Ai Maut Thhahar Ja Tu Jara Mujhe Yaar Ka Intezar Hai,
Aayega Woh Jarur Agar Use Mujhse Sachcha Pyar Hai,


अजल को दोष दें, तकदीर को रोयें, मुझे कोसें,
मेरे कातिल का चर्चा क्यों है मेरे सोगवारों में।

Azal Ko Dosh Dee, Taqdeer Ko Royein, aaur Mujhe Kosein,
Mere Katil Ka Charcha Kyun Hai Mere Sogwaron Mein.


Thank You For Visiting


You are Reading Maut Shayari in Hindi. If you are Like This Shayari Then Share with your friend through Whatsapp, Messenger, Facebook and Enjoy all, If you like visit our trending Shayari Love Shayari, Hindi Shayari, Good Morning Shayari, Ansh Pandit Shayari. Thank you all for Visiting our Shayari Stay Healthy and Safe.

Advertisement
Tags :

About the Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

%d bloggers like this: