Latest Rishte Shayari in Hindi – 20+ Best Tute Rishte Shayari & Status

Rishte Shayari in Hindi
इस दुनिया में हर बॉयफ्रेंड-गर्लफ्रेंड और कपल के बिच में अच्छा Rishta होना चाहिए क्यू की हर दिन बहत सारे रिश्ते टूटे और बहुत सारे कपल इस्के बजसे सुसाइड भी करते हैं। एक रिश्ते में वो हर दूसरे का इज्जत करना चाहिए।
अगर Relationship में इज्जत एंड रेस्पेक्ट नही हे तो वो रिश्ता ज्यादा दिन नहीं टिक सकता। एस्लिये हम आपके लिए Rishte shayari in hindi me लाये हैं। आप एस शायरी के मदत से आप के feeling को आप crush को बता सकते हैं। 
आगर आप दोनो के बिच में अच्छे रिश्ते नहीं हैं, Jhute Rishte Shayari or Tute Rishte Shayari in Hindi ऐप उपयोग करके आपके पार्टनर को समझ सकते हैं। आगर आप एस तराहा का शायरी धुंड रहे तो आप सही जहां मैं वह। 
इस पोस्ट में Hindi Shayari Collestion आप के लिए हर टाइप का शायरी ऐड किया है जैसे की Rishte par Shayari in Hindi, Naye Rishte Shayari in Hindi, Rishte Shayari in Hindi, Rishte par Shayari Hindi mai, Rishte shayari in hindi download.

🎧Rishta Shayari in Hindi Audio🎧

”Rishte Shayari in Hindi”

रिश्ते को कभी मजा करने का नहीं
एक रिश्ते को बनाने के लिए
सारी उमरा लाघती है जिंदगी की
Rishte ko kabhi mazak karne ka nehi 
Ek rishte ko banane ke liye 
Sari umra laghati hai jindegi ki
जो रिश्ते दिल की चाहत होती है
उसे याद करने की जरूरत नहीं है
वो तो अपने आप चले आएंगे
क्यूकी वो दिल की चाहत है
Jo rishte dil ki chahat hoti hai
Usko yaad karne ki zaroorat nehi hai
Wo to apne aap chalke ayega
Kyuki wo dil ki chahat hai
नज़र देने से कोई अपना नहीं बनता
क्यू की रिश्ते दिल से बनती है
और इस दिल मैं अगर प्यार है
रिश्ते अपने आप बन जाता है
Nazar dene se koi apna nehi banpata
Kyu ki rishte dil se banti hai
Aur iss dil mai agar pyar hai
Rishte apne aap ban jata hai
रिश्ते निभाए मैं चाहता हूं भी गम ऐ
इंशे परीसन होने की जरूरी नहीं
क्यूकी बैड माई वो इतना हसी दूंगा कि
संभल नहीं पाओगे
Rishte nibhane mai chahe jitna bhi gam aye
Inshe paresan hane ki zaroorat nehi
Kyuki bad mai wo itna hasee dega ki
Sambhal nehi paoge
ये रिश्ते हाय येसि
जो कभी दिखता नहीं है
क्यूकी ये दिल की एहसान ही है
जो दिल की प्यार मैं छुपा है
Ye rishte hi yesi
Jo kabhi dikhta nehi hai
Kyuki ye dil ki ehesans hi hai
Jo dil ki pyar mai chhupa hai
Rishte Shayari in Hindi

”Tute Rishte Shayari in Hindi”

तेरा मेरा रिस्ता है सुनेरा
कभी भी हमारी बंधन न टूटे यार
क्युकी फुल या खुशबू की तरह रिस्ता है हमारा
Tera mera rista hai sunera
Kabhi bhi humari bandhan na tute yara
Kyuki ful or khushbu ki tarha rista hai hamara
कितना प्यारा है ये नज़र
तेरा मेरा रिश्ता है सबसे प्यारा
मन करता है तुझमे कहीं रहे
और जिस सपनों की तलाश मैं तुम हो
उसी सपने को मैं देख पौ
Kitna pyara hai ye nazara
Tera mera rishta hai sabse pyara 
Man karta hai tujhme kahi rehejau
Aur jis sapne ki talash mai tum ho 
Usi sapne ko mai dekh pau
क्या अजीब सी है ये रिश्ता
राहा तो कुछ नहीं लगा
जब दूर चला गया मेरा दिल रोने लगा
Kya ajeeb si hai ye rishta 
Pass raha to kuch nahi laga
Jab door chala gaya mera dil rone laga
ये रिश्ते को तुम देखो जरा
इस्माई पयारी सी एक बच्ची है
जिसको हसने और माने से ही सुख मिला है
Ye rishte ko tum dekho zara 
Ismai payari si ek bachhi hai
Jisko hasane aur manane se hi sukoon milta hai
तुम्हारे साथ जो रिश्ता हम जुड़े हैं
इस्से तुम कामजोर मत समझौता
अभी तो ये सुई की तरह तुमको कड़ा है
जब ये सुई से एक रूमाल बंजय न
तब ही इस सुई की मक्सद क्या थी समझौता
Tumhare sath jo rishta hum jude hai
Isse tum kamjor mat samjhna
Abhi to ye sui ki tarha tumko kadta hai 
Jab ye sui se ek rumal banjaye na
Tab hi iss sui ki maksad kya thi samjhana
Rishte Shayari in Hindi

”Rishte par Shayari in Hindi”

रिस्टे कभी मतलाब से जुड़ा नहीं जाता
अनमोल है रिस्ते
जो हर सुख दुख में साथ देता है
Riste kabhi matlab se juda nehi jata
Riste to anmol hai
Jo har sukh dukh mai sath deta hai
रिस्ते मैं भोरोशा रखना ही मैंने राखी है
अगर भोरोशा नहीं है तो,
किसिकी बातो आके वो रिस्ते टूट जाते है
जो खराब मैं पछताना पड़ता है
Riste mai bhorosha rakhna hi maine rakhti hai
Agar bhorosha nehi hai to, 
Kisiki bato ake wo riste toot jate hai
Jo bad mai pachhtana padta hai
रिश्ते का मतलब है सही तरह से निभाना use
और जिसके साथ रिस्ता जुड़ा है
उसी खुशी के लिए अपनी ही खुशी का बाली चढाना
Rishte ka matlab hai use sahi tarha se nibhana
Aur jiske sath rista juda hai 
Uski khushi k liye apni hi khusi ka bali chadhana
कभी उस गली से गुजर आओ
जिस गली मैं प्यार का एक मंदिर घड़ा होगा
तब ही रिश्तों को समझ में आएगा की
बिना प्यार के बिना रिश्ते का कोई भी नहीं है जग
Kabhi us gali se gujar aao 
Jis gali mai pyar ka ek mandir ghada hoga
Tab hi rishte ko samjha mai ayega ki
Bina pyar ke bina rishte ka koi bhi nehi hai jaga
भगवान ने भेजा हुआ एक बंधन है रिस्ता
इसके बिना जिंदगी का कुछ भी नहीं है आस्था:
समाधानो इसी बात को मेरे दोस्तो
क्यूकी छोटी सी ही जिंदगी है
इस्लिये हर पल खुश मैं रहना सिखों
Bhagwaan ne bheja hua ek bandhan hai rista
Iske bina jindegi ka kuchh bhi nehi hai ashtha
Samajhlo isi baat ko mere dosto
Kyuki chhoti si hi jindegi hai
Isliye har pal khus mai rehena sikho
Rishte Shayari in Hindi

झूठे रिश्ते शायरी इन हिंदी

याद रखना जो दिमाग से रिश्ते जुड़े हैं
उनके रिश्ते कुछ पल मैं खतम हो जाता है
और जो दिल से रिश्ते को निभाते हैं ना
उन्होन ही एक असली जिंदगी को जीते हैं
Yaad rakhna jo dimag se rishte judte hai 
Unke rishte kuch pal mai khatam ho jata hai
Aur jo dil se rishte ko nibhate hai na
Unhone hi ek asli jindegi ko jite hai
बारिश का पानी जब मिट्टी के ऊपर गिरता है
तब ही मिट्टी फसल उगाना सुरु कर्ता है
क्यूकी उनके बीच माई रिस्ते ही हां है
Barish ka pani jab mitti ke upar girta hai
Tab hi mitti fasal ugana suru karta hai
Kyuki unke beech mai risthe hi yesa ha
रेशते तो बस एक घर की तरह है
इसे तोडना तो बहुत आसन है
लेकिन ये तोड गया तो जुडना बात कहीं है
Reshte to bas ek ghar ki tarha hai 
Ise todna to bahat asan hai
Lekin ye tod geya to judna bahat kathin hai
ख़्वाहिश तो थी की वो मेरे पास ही रहे
प्रति सोचा नहीं था की उनके प्यारे
रिस्ते माई बादल जा
और दुनिया मैं उनके अल्भा कुछ नजर नहीं ऐस
Khwahish to thi ki wo mere pass hi rahe
Per socha nehi tha ki unke pyar 
Risthe mai badal jae
Aur dunia mai unke albha kuchh nazar nehi ae
रिश्ते तो बदलते रहते हैं प्रति इंसान नहीं
प्रति इंसान ही एक ही सैक्स है
पुरानी रिश्ते भुलाना भी जनता है
और प्यारी सी मुस्कान जैसी रिश्तों को जोड़ना
Rishte to badlte rehete hai per insaan nehi
Per insaan hi ek hi saks hai 
Purani rishte bhulana bhi janta hai
Aur pyari si muskan jaisi rishte ko jodna

  “खूबसूरत रिश्ते शायरी”

Rishte to badlte rehete hai per insaan nehi
Per insaan hi ek hi saks hai
Purani rishte bhulana bhi janta hai
Aur pyari si muskan jaisi rishte ko jodna

रिश्ते तो बदलते रहते है पर इंसान नही
पैर इंसान ही एक ही सेक्स है
पुराणी रिश्ते भुलाना भी जानता है
और प्यारी सी मुस्कान जैसी रिश्ते को जोड़ना

Rista nibhaya tha hamne
Isko todne ki koshish ki tumne
Tum to hashte hue chale gae the
Phir rote hue bapas kyu aye

रिश्ता निभाया था हमने
इसको तोड़ने की कोशिश की तुमने
तुम तो हशते हुए चले गए थे
फिर रोते हुए बापस क्यों ए

Rishte kya hai tumko pata nehi
Abhi to kuchh pal hua hai tum hamse dur hone ki
Bad mai taras jaoege tum hamshe milne ki

रिश्ते क्या है तुमको पता नहीं
अभी तो कुछ पल हुआ है तुम हमसे दूर होने की
बाद मई तरस जावेगे तुम हमसे मिलने की

Hamne bas tumko bharosha kia tha
Riste judne se pehele
Tumko samjha nehi tha
Aur jab samjhlia
Tumhare sath rishte hi khatam ho gaya

हमने बस तुमको भरोषा किआ था
रिश्ते जुड़ने से पहले
तुमको समझा नही था
और जब समझलीआ
तुम्हारे साथ रिश्ते ही खत्म हो गया

Hamare sath ristha juda tha
Sirf humko rulane k lie
Tum kaise yese soch lie ki
Hum roenge or kisi k lie

हमारे साथ रिस्ता जुड़ा था
सिर्फ हमको रुलाने क लिए
तुम कैसे ऐसे सोच लिए की
हम रोएंगे और किसी क लिए

Dilo mai thodi hasi or pyar ane se rishte judte hai
Jab ye dil hi tod dia to
Rishte ko hum kaha pe rakhe

दिलो मै थोड़ी हसि और प्यार अने से रिश्ते जुड़ते है
जब ये दिल ही तोड़ दिए तो
रिश्ते को हम कहा पे रखे

Samajhne bali hi baat hai
Kya humse rishte todne se
Apki muhu mai hasi ae

समझने बलि ही बात है
क्या हमसे रिश्ते तोड़ने से
आपकी मुहु मई हसि ऐ

Hamre dimag mai sirf ek hi bat ghumti hai
Ye log kyu itne jaldi badal jate hai
Jab tak inke kam mai aap ate rohoge
Inhone apko yad karte hi rehenge
Nehi to itne jaldi apko bhul jate hai
Jaise apko kabhi bhi dekha hi ne

हमरे दिमाग मै सिर्फ एक ही बात घूमती है
ये लोग क्यों इतने जल्दी बदल जाते है
जब तक इनके काम मई आप आते रहोगे
इन्होने आपको याद करते ही रहेंगे
नहीं तो इतने जल्दी आपको भूल जाते है
जैसे आपको कभी भी देखा ही नहीं है

Suraj ki roshni subha subha thandi lagti hai
Kuchh pal bad ye sarir per agg barsane lagti hai
Aur sam ko wo thodi sukoon dene lagti hai
Rishte mai bhi yese mausam badalti reheti hai
Pehel hashi, phir dard aur bad mai sukoon hi milti hai

सूरज की रौशनी सुबह सुबह ठंडी लगती है
कुछ पल बाद ये शरीर पर अग्ग बरसाने लगती है
और सैम को वो थोड़ी सुकून देने लगती है
रिश्ते मे भी ऐसे मौसम बदलती रहती है
पहेल हाशि, फिर दर्द और बाद मई सुकून ही मिलती है

Leave a Reply