50+ Best Simran Jain Shayari | सिमरन जैन के Motivational Shayari

IMG 20210826 183417

Simran Jain Shayari – Simran Jain एक TikTok Star थे जब इंडिया में TikTok बन नही हुआथा। आब वो instagram में reels बनाते है और वो Social Media Influencer है। 

वो बहत सारा शायरी का वीडियो Instagram पर रोज पोस्ट करते है। वो instagram में लगभग 360k follower है। हम्म इस पोस्ट में आपके लिए Simran Jain Shayari हिंदी में लिखे है। अगर ये शायरी आपको पसंद आजायेतो आपकी दोस्त के साथ शेयर कीजिये।

Simran Jain Shor Bio

Full Name Simran Jain
Nick Name Siminc
Age/Birthday 30 August 1998 (Delhi)
Current City Delhi, India
Nationality Indian
Profession TikTok Star & Influencer
Religion Hindu
Qualification Graduation
Hobbies Shayari and Acting

Simran Jain Shayari

जिसने तुम्हारी इनसल्ट कि हेना
उन्हें Block नही Ignore करना सीखो
बरन वो तुम्हारी कामियाबी कैशे देखेंगे मेरे दोस्त

कुछ तो करना पड़ेगा यू बैठे बैठे नही चलेगा
दुसरो का काम देखकर तेरा नाम नही बनेगा
जबतक पाने के लिए मर्चिस जलायेगा,
तब तक आग नही लगेगी
जिसदिन सीने में आग लगाएगा उष दिन, दुनिया जलेगी

जनाब सिर्फ सींचने से नही मिलते तमन्नाओ के शहर
चलना भी जरूरी है मंजिल को पाने के लिए

आरे गिरना चाहते हो तो गिरलो
लेकिन याद रखना बहत मुश्किल है मुझे गीराना
क्यों कि में ठोकोरो से चलना सिखा है

आरे ना संघर्ष ना तकलीफ तो क्या मजा है जीने में
बड़े बदे तूफान रूफ जाते है
जब आग लगेहो सीने में

जीवन मे एक बार फैसला कर लिया तो
पीछे मुड़ कर मत देखना
क्यों कि मेरे दोस्त पलट पलट कर देखने वाले
कभी इतिहास नही बनाते

अगर खुद खुसी करने की सोच रहेहो तो ये बाद याद रखना
की चाहत में कुछ लोग हर रोज मरते है
लिकिन मर के भी वो आपनो के लिए जिना पसंद करते है

IMG 20210826 160211

Simran Jain ki Shayari

अभी तो दोस्ती सुरु हुई है
वक्त आने पर फर्ज भी लिभूंगी
दिल पर पत्थर रखकर ही सही
तुझे मेन्टल हॉस्पिटल जरूर छोड़ कर आयुनगी

आरे जो शोर मचतेहै भीड़ में
भीड़ ही बनकर रह जातेहै
जिंदगी में वोनी कामियाबी पतेहै
जो ख़ामोसीसे आपने काम कर जाते है

मुसिबटोका तूफान भी मुह मोड़ लेता हैं
जब भोले का भक्त हर हर महादेव बोलता है

आरे वक्त बदलता है तो नीम परभी आम आने लगते है
तैर जो देते नहीहै जवाब
उनकेभी सलाम आने लगतेहैं

तेरे प्यार में जो जखम मिलेहे ना मुझे
उनसे कोई तकलीफ नही हो रही
वो और गहरे होते जा रहेहै
आब और बर्ड्स नही हो रहाहै मुझसे

कितना अजीब ने ना
घरमे माँ सबका मन रखती है
लेकिन सब भूल जातेहै
की माँ भी एक मन रखती है

फर्क शरीफ सिच का हित है
Positive या Negetave , सीढ़िया विही होतीहै
किसके लिए ऊपर जातीहै, और किसीके लिए नीचे

टूटने लगे हिसले अगर ये याद रखना
बिना मेहनत के तख्तो ताज नही मिलते
ढूंढ ले अन्धेरे में मंजिल अपनी
जुगनू कभी रोशनी के महातेज नही होते

IMG 20210826 160337

सिमरन जैन की शायरी

की रिस्तो में दूरिया अक्सर बताही देतीहै
की प्यार कितना सच्चा है
और कितना दीखवे का

जख्मो वही है जो छुपा दिया जाये
जो बता दिए जाएं तो उशे तमाशा कहते है

लकीरो के ऊपर उंगलिया हितीहै
ऊपर वाले ने भी कुसमत से पहले मेहनत लिखिहे

सचमे बहत गुस्सा आताहै ना
जब आप कीसीसे आपकी सारि feeling शेयर करे
और अतलास्ट आपको सुनने को मिले Just ok ok

गलत नही होता अन्दाजे चेहरा
क्योंकि कुछ लोग, लब्जो में मिठास
और चेहरे में नकाब ले कर घूमते है

परिस्तिति जाहे जो भी हो
कभी खुदको टूटने मत देना
बरन ये इंसान जब भगबान की टुटी मूर्ति 
को घरसे निकाल सकती है
तो हममें तो लात मारके निकाल सकती है

जिंदगी में हमेशा हमारी जीत और हार
हमारी सोच बताती है
जो मान लेता है उसकी हार , जो ठान लेते है उसकी जीत

में सिख नही पायी मीठे झूट का हनर
मगर मेरे कड़वे सच ने
आपनो को मुझसे बफरत करना सिखाडिया

जॉब भी हार मानने लगना ये याद रखना
की गीता में सपोस्ट सब्दो में लिखा है
की निरास न होना, कमजोर तेरा वक्त है तू नही

IMG 20210826 160103

Simran Jain Instagram Reels Shayari

कोशिस बहत की ये महाबत बया ना हो
लेकिन मुनकीन कहाथा
आग लगे और धुंआ न हों

कोरोडो में मुझे सिर्फ वो सक्स चाहिए
जो मेरी गैर मजूदगी में
मेरो बुराई ना सुन सके

परेसान मत हो ये जो हालात है तेरे एक दिन सुधार जाएंगे
और जो दूसरे तुझपर हस्ते है
उनके चेहरे उतर जाएंगे

चलो ठीक है जाते जाते आखरी ख्वाइश थी मेरी
वो जो तुम्हारा बचपन का वीडियो game था ना
उशे वापस खेलना सुरु करदो
क्यों कि में नही चाहती तुम वापस कुसुकि feeling के साथ खेलो

आरे कोई आमिर नही है इस दुनिया मे
जो अपनी गुजरा हुआ काल खरीद सके
ऐसा कोई गरीब नही इस दुनिया मे
जो आपना आने वाला कल न बना सके

इश्क़, महाबत्त, प्यार को छोड़ कर
कोई भी गलती करोगे ना तो संभाल जाओगे
बेटा थिंदा संभाल कर आगे रास्ता गिला है
ध्यान से चलो नहीतो फिसल जाओगे

कोन कहता है कि फासले  महाबत्त की यदि मिटा देतेहै
हम्म इतनी दूर रहते है, जब भी आँखे बंद करते है
तो सामने आपको पाते है

मेरी हसी नेरी खुसी मेरी मुस्कान ही तुम
ओ मेटि माँ, मेरा चैन मेरा सुकून मेरा जान ही तुम

IMG 20210826 155916

सिमरन जैन की शायरी हिंदी में

इश्क़, महाबत्त और प्यार को ढूंढ कर क्या उखाड़ लेगा
जब टाइम बर्बाद होनेका आएगा ना
तो वो खुद तुम्हे ढूंढ लेगा

आरे तुम महाबत्त के बात करते हो
हम्मने तो दोस्त भी मतलबी देखे है

आबे महाबत्त की है हम्मने तुमसे
सबको क्यों बताते फिरते हो
आबे तुम्हारा दिल है ना चार्जर
जहा पाओ वही लगते फिरते हो

दिलतो करता है मर जाऊ तेरे प्यार में
अगर में मर गयी तो मेरे जितना प्यार को करेगा तुम्हे

बिना नक्शे के भी पंक्षी
पहंच जातेहै अपनी मुकाम पर
और एक हम्म इंसान है
जो दिल से दिल तक पहंचाने में भी नाकाम हो जाते है

जरूरी नही है सबको नजरो में अच्छे बने
कुछ लोगो की नजर में खटकने का मजा ही कुछ और हे

मुश्किल कई आजाये तो डरने से क्या होगा
जनाब कोई करकिफ़ निकालो
यू दर दर के मरने से क्या होगा

एक बात याद रखना यारो
मेहनत की सीढ़ियां होते है, किस्मत की छलान
सीढ़िया आपको हमेशा उपर ले जाएगी
लेकिन छलान से आप गिर भी सकते हो

इंसान को ना हमेसा छोटि छोटी गलती से बचना चाहिए
क्यों कि टक्कर अक्सर पत्थर से लगती है, पहाड़ से नही

तो मेरी दोस्तो ने मेरा ऐसा साथ दीया
जब मेरा मिस्कील वक्त थी मेरा फोन काट दिया

जो जाना चाहते है ना उशे जाने दो
क्या पता कि वो तुम्हारी बिना ही खुश रहना चाहते हो

IMG 20210826 155827

Simran Jain Shayari in Hindi

ये दुनिया है जनाब
यह संकत बनना पड़ता है
लोग हमेसा काटो को नरमी से छूते है
लेकिन फूलो को मसल देते हैं

जबाब देना हमे भी आता है, मगर जनाब
कीचड़ में पत्थर फेंकने की आदत हम्मव नही है

जिंदगी के रहम प्यार करने की लोग बहत मिलेंगे
लेकिन दोस्त लुभाने वाले बहत कम

मतलबी लोग तो निकल जाते है आपने अपने रास्ते मैं
रोते तो वो लोग रहते है
जिन्हों ने दिलसे रिस्ता लिभया होता है

बेसक देर से बनी पर कुछ बनो
क्यों कि लोग वक्त के साथ
खेरियत नही हैसियत पूछते है

प्यार करना है ना तो पूरी सिद्दद से करना
क्यों कि साथ हो कर भी नही साथ हिने में
बहत तकलीफ होती है

प्यार वी नहीं उशे पाने के लिए तुम कुछ भी कर जाओ
आरे प्यार तो वो है, उसकी खुसी के लिए तुम अपनी खुसी भूल जाओ

मुठी में जो केएड है खुसिया उन्हें बांट दो यारो
ये हथेलिया तो एक दिन खुली जानी है

Leave a Reply